आपको बता दें कि आज यानि 5 मार्च को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरा वनडे नागपुर में खेला जा रहा है। ऑस्ट्रेलिया ने जीता टॉस जीतकर भारत को पहले बैटिंग करने का न्यौता दिया है। 5 मैचों की वनडे सीरीज में भारत 1-0 से आगे।
हांलाकि ऑस्ट्रेलिया की टीम पहले वनडे में मिली हार का बदला इस मैच में जरूर चुकाना चाहेगी। बता दें कि पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया के लिए नागपुर का यह क्रिकेट ग्रांउड भाग्यशाली साबित हो सकता है।

अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर इसमें ऐसा क्या है। नागपुर के विदर्भ क्रिकेट संघ ग्राउंड की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यहां जब भी भारत खेला है, किसी न किसी भारतीय बल्लेबाज ने शतक लगाया है। मतलब साफ है कि नागपुर के इस क्रिकेट ग्रांउड को टीम इंडिया के किसी न किसी बल्लेबाज के शतक का इंतजार है।

बता दें कि नागपुर के इस मैदान पर साल 2009 में भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना पहला मैच खेला था। इस मैच में माही ने 124 रनों की शानदार शतकीय पारी खेली। इस मैच को भारत ने 99 रनों से अपने नाम कर लिया था।
साल 2009 के दिसंबर महीने में इसी मैदान पर भारत और श्रीलंका के बीच मैच खेला गया था। श्रीलंका के खिलाफ एक बार फिर से एमएस धोनी ने 107 रन बनाए थे। हांलाकि यह मैच टीम इंडिया 3 विकेट से हार गई थी।
साल 2011 के विश्व कप में भी सचिन तेंदुलकर ने 111 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी। हांलाकि उस मैच में भारत को तीन विकेट से शिकस्त मिली थी। बावजूद इसके हार से उबरते हुए भारत ने विश्व कप खिताब अपने नाम किया था।

साल 2013 में इसी क्रिकेट ग्रांउड पर भारत ने ऑस्ट्रेलिया से छह विकेट से शिकस्त दी थी। शिखर धवन ने 100 तथा विराट कोहली ने 115 रनों की पारी खेली थी, जबकि उसी मैच में शेन वॉटसन ने 102 और जॉर्ज बेले ने 156 रनों की पारी खेली थी।
साल 2017 में एक बार फिर से भारत और ऑस्ट्रेलिया का आमना सामना हुआ। इस मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से पराजित किया था। भारत की तरफ से रोहित शर्मा ने 125 रनों की पारी खेली थी।

loading...

Related News