देखते ही देखते मोदी सरकार ने लिया ऐसा एक्शन, राज्यों के बीच मची हड़कंप

16 मई, 2020 को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने दिल्ली के सुखदेव विहार फ़्लाइओवर के पास पैदल अपने घर जा रहे कुछ मज़दूरों से मिलकर बातें की । उनसे उनकी समस्याओं के बारे में जाना, उनकी पूरी मदद करने का आश्वासन दिया और उसके बाद पार्टी के कर्मचारियों ने इन मज़दूरों को उनके घर पहुँचाने के लिए गाड़ियों का प्रबंध किया।

1 जून से चलने वाली 200 ट्रेनों की टिकट बुकिंग हुई शुरू, देखें ट्रेन की पूरी लिस्ट

अब इसी घटना के दो फ़ोटो सोशल मीडिया पर इस दावे के साथ वायरल किए जा रहे हैं की मज़दूरों के साथ गांधी की मीटिंग एक 'घोटाला' था । इस मुलाक़ात से ली गयी एक फ़ोटो में एक महिला गांधी की बातें सुनती नज़र आ रही है । दूसरे फ़ोटो में यही महिला गाड़ी में ऑलिव ग्रीन रंग की शर्ट पहने और काले रंग का मास्क लगाए एक दूसरे व्यक्ति के साथ बैठी दिखायी देती है।

फ़र्ज़ी दावा यह कहता है कि गांधी की इस मीटिंग के लिए इस महिला को गाड़ी में लाया गया था। इस महिला के दोनो तस्वीरों के एक सेट के साथ यह फ़र्ज़ी दावा वायरल किया जा रहा है की केवल एक 'फ़ोटो - ऑप' के लिए इन्हे मज़दूर बनाकर लाया गया था।

loading...

Related News