इंटरनेट डेस्क। गायक और अभिनेता दिलजीत दोसांझ इन दिनों हॉकी लेजेंड संदीप सिंह की बायोपिक फिल्म 'सूरमा' में काम कर रहे है।

दिलजीत दोसांझ ने हाल ही में कहा है कि यह हमारा दुर्भाग्य है कि हम देश में हॉकी को उतना प्रमोट नहीं कर पाए, जिसका वह हकदार था।

हॉकी को देश के राष्ट्रीय खेल के तौर पर भी आधिकारिक रूप से मान्यता नहीं मिली है। यह हमारे लिए शर्मशार कर देने वाली बात है।

दिलजीत का कहना हैं कि उन्हें यह जानकर हैरत हुई कि हॉकी को देश के राष्ट्रीय खेल के तौर पर आधिकारिक रूप से सम्मान नहीं मिला है और इस बारे में हमें बचपन से स्कूलों में गलत सिखाया जाता रहा है।

आगे उन्होंने संदीप सिंह के बारे में कहा, 'युवा पीढ़ी संदीप सिंह के बारे में बहुत ही कम जानते है। मैं भी उनके बारे में सिर्फ इतना ही जानता था कि वह भारतीय हॉकी टीम के कप्तान थे।

मुझे उनकी जर्नी, उनके स्‍ट्रगल के बारे में नहीं पता था।

मुझे नहीं पता था कि गोली लगने के बाद वह दो साल तक लकवाग्रस्त रहे और उसके बाद वह टीम के कप्तान बने और वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया। संदीप सिंह की कहानी बहुत प्रेरित करने वाली है।

यह सिर्फ स्पोर्ट्समेन को ही नहीं बल्कि आम लोगों मोटिवेशनल करेगी।'

इस फिल्म के पोस्टर और ट्रेलर रिलीज़ हो चुके है। यह फिल्म 13 जुलाई को सिनेमाघरों में रिलीज़ होगी।

loading...

Related News