इंटरनेट डेस्क। पिछले कुछ दशकों में, तूफान की तेजी से चलने वाले इस देश में अधिकांश युवा के लिए इंजीनियरिंग की एक करियर विकल्प है। जिन छात्रों ने 12वीं में अपना समय फिजिक्स, गणित और केमिस्ट्री में बिताया है उनके लिए आगे चलकर इंजीनियरिंग की एक विकल्प रहता है।

जिस पल आपने 12वीं साइंस से पास की होगी उसी समय आपसे कितनों ने ही पूछ लिया होगा कि अब आगे इंजीनियरिंग में कौनसी स्ट्रीम लोगे, तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसी स्ट्रीम के बारे में बताने जा रहे हैं जिनके बारे में शायद आपने नहीं सुना होगा।

इंजीनियरिंग में किए जाने वाले 5 एकदम हटके कोर्स-

स्पेस इंजीनियरिंग-

स्पेस इंजीनियरिंग साइंस का ही एक क्षेत्र है जो स्पेस साइंस के साथ जुड़े खगोल भौतिकी, खगोल विज्ञान, अंतरिक्ष अन्वेषण और उपकरणों के प्रकार से संबंधित होता है। सरल शब्दों में, कहें तो स्पेस इंजीनियरिंग में यह समझना शामिल है कि चीजें अंतरिक्ष में कैसे काम करती हैं, मिशनों को ले जाकर मिशन में अंतरिक्ष यान को कैसे भेजा जाता है और इससे कैसे खोज की जाती है।

माइनिंग इंजीनियरिंग-

खनिजों को निकालने और उन रूपों में परिवर्तित करने की प्रक्रिया जिसे हम काम में लेते हैं उसे खनन कहा जाता है। खनन के काम को पूरा करने के लिए इंजन, मशीनों और औजारों की जरूरत होती है जो कि माइनिंग इंजीनियरिंग के क्षेत्र में आते हैं। इसमें खानों, बजट और खानों के डिजाइन की योजना शामिल होते हैं।

फोटोनिक्स-

फोटोनिक्स लाइट या फोटॉन की फिजिक्स है। फोटॉन कणों की पीढ़ी, नियंत्रण और पहचान की स्टडी इस क्षेत्र के अंतर्गत आती है। इसके अलावा इलेक्ट्रॉनिक्स, एयरोस्पेस जैसे कई अन्य क्षेत्रों के विभिन्न पहलुओं में लाइट की आवश्यकता के कारण फोटोनिक्स की प्रासंगिकता बढ़ जाती है। कोई बी टेक या बीई प्राप्त कर सकता है और फोटोनिक्स में विशेषज्ञता के लिए डिप्लोमा ले सकता है।

हाइड्रोलिक इंजीनियरिंग-

हाइड्रोलिक इंजीनियरिंग सिविल इंजीनियरिंग में ही पढ़ाई जाती है। यह आमतौर पर पानी और सीवेज के प्रवाह से संबंधित है और ये कैसे काम करते हैं ये इसी में सिखाया जाता है। इसका उपयोग बांध, पुल, नहर, सीवर इत्यादि के निर्माण में बड़े पैमाने पर किया जाता है।

पेपर-पल्प इंजीनियरिंग-

पेपर-पल्प इंजीनियरिंग इंजीनियरिंग का ही एक क्षेत्र है जो कच्चे माल से कागज उत्पादों में परिवर्तित करने से संबंधित है। यह थर्मल, रासायनिक और जैव रासायनिक प्रक्रिया से संबंधित है जिसका उपयोग कागज के डिजाइन और उत्पादन के लिए किया जाता है। प्रक्रियाओं के परिणामस्वरूप पेपर, कार्डबोर्ड और अन्य पेपर की सामग्रियों का निर्माण होता है।

loading...

Related News